Loading...

प्रभु की कोमल देखभाल

Bro. D.G.S Dhinakaran
06 Feb
आपके शायद कई ऐसे कार्य हैं जो आपकी शांति को भंग करते हैं और आप नींदरहित रातों को बिता रहे होंगे। इसलिए यह याद रखें कि छोटी चीजों की एक बडी परछाई ‘चिंता’ होती है। इसलिए किसी भी बात की आप चिंता मत करें क्योंकि परमेश्वर आपके जीवन की हर परिस्थिति को नियंत्रण करता है। इसलिए वह कहता है, ‘‘अपनी सारी चिंता उसी पर डाल दो क्योंकि उसको तुम्हारा ध्यान है।’’ (1 पतरस 5:7) चिंता करना छोड दें और यीशु को प्रार्थना में देखें। वह प्रार्थना सुननेवाला परमेश्वर है।
 
1876 को मिनोसेटा में गर्मी के दौरान, भूमि की उपज को नष्ट करने के लिए टिड्डियों का एक झुण्ड आया। उन्हें डर था कि वे फिर से वापस आएंगी। इसलिए जॉन एस पिलबेरी गर्वनर ने 26 अप्रैल 1877 को प्रार्थना और उपवास के लिए नियुक्त किया और हर पुरुष और हर स्त्री और बच्चों को परमेश्वर की सुरक्षा देने के प्रार्थना निवेदन का आग्रह किया। उस नियुक्त दिन को बस और स्कूल और व्यापार सब बंद कर दिए गए और लोगों ने एक दिव्य हस्तक्षेप के लिए प्रार्थना की। अगले दिन से वातावरण आम दिनों से अधिक गर्म हो गया  और पतझड से भी अधिक ऊष्ण ऋतु हो गया। तीन दिनों की गर्माहट से टिड्डियों के लार्वे बढ गए।लोगों ने यह देखा तो सोचने लगे कि परमेश्वर ने क्यों हमारी प्रार्थना और उपवास का जवाब नहीं दिया। फिर भी चौथे दिन अचानक वातावरण में बदलाव हुआ और मिनोसेटा बर्फ से ढक गया और इससे टिड्डियां वहां से उड गई। 
परमेश्वर के उत्तर देने के कई ज्ञान के तरीके हैं जो किसी को भी अचम्भे में डाल सकते हैं। चाहे वो एक राजा या एक बच्चे की प्रार्थना हो, स्वर्ग का सृष्टिकर्त्ता जिसने आकाश और पृथ्वी को रचा है वह हर प्रार्थना निवेदन का उत्तर देने के लिए प्रसन्न होता है। इसलिए आप अब तक क्यों अपनी समस्याओं से लिपटे हुए हैं? मांग के भारी बोझ के नीचे मत दबिए। यीशु ही आपकी चिंताओं के लिए दिव्य सौभाग्य है। जैसे कि पवित्रशास्त्र से एक प्रतिज्ञा वचन है, ‘‘अपना बोझ यहोवा पर डाल दे वह तुझे सम्भालेगा; वह धर्मी को कभी टलने न देगा।’’ (भजन संहिता 55:22) क्या आपका हृदय प्रभु के हाथों में देने और देखभाल करने के लिए तैयार है? परमेश्वर के कोमल हाथों के द्वारा अपने जीवन की हर दुखद परिस्थिति और निराशा को पोंछ डाले। वह आप से प्रेम करता है और वह हमेशा आप के साथ है।
Prayer:
स्वर्ग में प्रिय पिता,

मैं यीशु के नाम में, मैं आपके पास आता हूं। आपकी उपस्थिति में मेरी समस्याओं को दूर करें। आपकी महिमा पूरी पृथ्वी को भर रही है। मेरी आत्मा और मेरे मन को भरें। मैं यीशु के नाम में आज्ञा देता हूं कि हर चिंता जो मुझ पर है उसकी झकड खुल जाए। आप मेरे दाता हैं। मेरे मांगने से पहले ही आप मेरी आवश्यकताओं को जानते हैं। हे प्रभु मैं आपके चरणों में मेरी सभी जरूरतों, डर और शक को रखता हूं। उत्तर मिलने तक मुझे अनुग्रह दें कि मैं आशा, विश्वास और धीरज से आपकी बाट जोहूं। मैं जानता हूं कि आप मुझे शांति के साथ सभी आशीषों से आशीषित करेंगे। यीशु के नाम में आमीन !

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000