Loading...
Paul Dhinakaran

आपकी ऊंचाई शीघ्र आ रही है!

Dr. Paul Dhinakaran
16 Jul

बाइबल में, हम एक व्यक्ति यूसुफ के बारे में पढते हैं जो निराशापन में रहने और अंत में पागल होने के कई कारण बता सकता है। परमेश्वर की प्रतिज्ञा अंतिम एक आशा के तागे के समान है जिसे एक व्यक्ति अंधकार के समयों में निकट से पकड सकता है परन्तु यूसुफ के जीवन में सपने और प्रतिज्ञाएं मिली कि वह ऊंचा उठेगा, तब उसे बहुत ही अकेलेपन और तनहा का सामना करना पडा।"हियाव बांध दृढ हो जा, भय न खा, तेरा मन कच्चा न हो; क्योंकि जहां जहां तू जाएगा वहां वहां तेरा परमेश्वर यहोवा तेरे संग रहेगा।''(यहोशू 1:9) यदि यह परमेश्वर की सदाबहार एक प्रतिज्ञा उसके बच्चों के लिए हैं तो आपको आश्चर्य होता होगा कि ये यूसुफ के लिए काम क्यों नहीं किया, जिस दिन उसके भाइयों ने उसे गड्डे में डाला और परिणाम स्वरूप उसे एक दास के रूप में बेच दिया। 

जब यूसुफ ने अपने भाइयो से अपने जान की भीख मांगी होती तब परमेश्वर कहां था? जब उसे दास के रूप में बेच दिया गया तब परमेश्वर कहां था? जब उस पर झूठा इलजाम लगाया गया और राजा ने उसे बंदीगृह में डाल दिया तब परमेश्वर कहां था? जब लोग उसे भूल गए तब परमेश्वर कहां था? प्रियजन,यह अपने हृदय में कुरेद कर रखें। इन सभों के बीच में परमेश्वर यूसुफ के साथ था। वह अपने पिता के द्वारा प्रेम किया गया परन्तु अपने भाइयों के द्वारा घृणा किया गया। सभी कष्टों के समय परमेश्वर पर्दे के पीछे एक जांचनेवाला चुपचाप अपने स्थिर मन के साथ यूसुफ के जीवन में सही समय में अपने वचन को पूरा होने के लिए काम कर रहा था। यूसुफ किसी के द्वारा भी प्रेम नहीं किया गया। प्रियजन, कभी कभी जो लोग आपसे घृणा करते हैं, वे आपको लक्ष्य तक पहुंचाते हैं। परमेश्वर की संतान के रूप में यह निश्चिंत रहें कि परमेश्वर आपकी परवाह करता है और लगातार अपने हाथों में उठाए चलता है और आपके संग होता है। परमेश्वर अपने वचन का विश्वासयोग्य है। एक दिन परमेश्वर ने यूसुफ को आनेवाले आगामी अकाल का हल बताया कि कैसे मिस्र को इस भयंकर अकाल के शुरु होने से पहले रहना होगा। जिस स्थान में उसे बंदीहृह में डाला गया उसी स्थान में वह मिस्र का प्रधान बन गया। 

प्रियजन,परमेश्वर निर्बल को चुनता है और नम्र लोगों पर अपनी पूरी महिमा दिखाता है। यूसुफ मिस्र में एक दास था परन्तु परमेश्वर ने उसे अपनी महिमा दिखाने के लिए चुना। क्या आप नकारे गए हैं और सभी लोग आपको नीचा देखते हैं?क्या आप अनाथ का अनुभव करते हैं? या आपको पढाई में उत्तमता की अयोग्यता है या आपके काम में आप प्रतिदिन लज्जित किए जाते हैं? क्या आपके गले के चारों ओर पापमय आदतों की डोरी है? क्या आप मानसिक तनाव और या मानसिक दुख के एक गड्डे में हैं? आज सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहता है,परन्तु सचमुच मैं ने इसी कारण बनाए रखा है कि तुझे अपनी सामर्थ दिखाऊं,और अपना नाम सारी पृथ्वी पर प्रसिद्ध करूं।(निर्गमन 9:16) परमेश्वर अपने नाम की खात्तिर आपको ऊंचे स्थानों पर चलाएगा। जिस समय वह आपको दूसरों के सामने ऊंचा उठाएगा उस समय आपके चोट के घाव गायब हो जाएंगे। इसलिए हियाव बांधे!
Prayer:
प्रेमी प्रभु, आपने जो प्रतिज्ञाएं मुझे दी हैं, उसके लिए मैं आपको धन्यवाद करता हूं। आप अपने वचन के विश्वासयोग्य हैं। आप ने मुझ पर और अपने वचन पर केन्द्रित होने के लिए हमें चुना है। मैं जानता था कि आप सही स्थान और सही समय पर आप मेरा आदर करेंगे। जैसे कि मैं बाट जोहता हूं मेरी मदद करें कि मैं आपके सामर्थ और बल पर मनन करूं। आप हर चीज को अपने अपने समय पर सुंदर बनाते हैं। आपके नाम की महिमा के लिए मुझे ऊंचा करें। यीशु के नाम में,मैं प्रार्थना करता हूं,आमीन!

For Prayer Help (24x7) - 044 45 999 000