Loading...

सिद्ध प्रेम!

Sharon Dhinakaran
08 Nov
परमेश्वर ने हमें एक अद्भुत परिवार और मित्रों के साथ आशीष दी है। हम भी उन से प्रेम करते हैं। परन्तु क्या यह प्रेम सिद्ध है? प्रेम के बीच में कभी कभी  एक विचित्र हमारे अंदर बिना किसी कारणवश बैठ जाता है वरन सिद्ध प्रेम भय को दूर कर देता है (1 यूहन्ना 4:18) किसी और प्रेम से अधिक परमेश्वर का प्रेम होता है क्योंकि उसका प्रेम सिद्ध होता है। हम पवित्रशास्त्र में पढते हैं,इससे बडा प्रेम किसी का नहीं कि कोई अपने मित्रों के लिए अपना प्राण दे। (यूहन्ना 15:13) जहां पर परमेश्वर का प्रेम है वहां पर कोई डर नहीं होता क्योंकि परमेश्वर का सिद्ध प्रेम भय को दूर करता है और आप जयवंत होंगे। क्या हम बाइबल में नहीं पढते ‘‘क्योंकि परमेश्वर ने हमें भय की आत्मा नहीं पर सामर्थ और प्रेम और संयम की आत्मा दी है।’’(2 तीमुथियुस 1:7) 

एक बेसबॉल का चेम्पियन था और जब वह बेसबॉल खेल के लिए निकल रहा था उसे एक अनजान व्यक्ति से फोनकॉल आया और उस फोन पर कोई उसे धमकी दे रह अथा कि यदि वह खेल में जाएगा उसे गोली से उडा दिया जाएगा। उसके फोन के रखने के बाद वह परेशान हो गया और उसके अंदर डर आ गया। जब उसने पैविलियन से बाहर आकर देखा कि वहां पर कोई है कि नहीं परन्तु उसने केवल अपने पिता को देखा जो उसे साहस देकर कह रहे थे, ‘‘मत डरो, बाहर आओ और खेलो।’’ मैं ने तुम्हारे लिए सारी सुरक्षा रखी है। इससे उस जवान खिलाडी को प्रेरणा मिली और वह निश्चय जानता था कि उसके पिता गलत होने न देंगे। उसने अपने खेल को बहुत ही उत्साहित रूप से खेला और उस खेल को जीता जिससे कि उसकी टीम और उसके परिवार को प्रतिष्ठा मिली। 
हम कई चीजों के बारे में डरते हैं। जीवन का डर, मृत्यु का डर, अपने भविष्य का डर, अपने प्रियजन के खोने का डर, परीक्षा लिखने का डर और ऐसे ही चलता रहता है। यीशु को ओर देखें जो आपके सभी भय पर जयवंत हुआ है। हमारे प्रभु यीशु के केवल सत्य और मार्ग पर चलने के द्वारा ही आप यह समझ पाएंगे कि सर्वशक्तिमान परमेश्वर आपके साथ है। बाइबल हमें निश्चय देती है, ‘‘तू हियाव बांध और दृढ हो; उनसे न डर और न भयभीत हो; क्योंकि तेरे संग चलनेवाला तेरा परमेश्वर यहोवा है; वह तुझ को धोखा न देगा और न छोडेगा।’’ (व्यवस्थाविवरण 31:6) जैसे उस युवा खिलाडी ने अपने पिता पर भरोसा रखा कि उसके पिता सब कुछ संभाल लेंगे। आपको भी किसी भी बात पर घबराना नहीं चाहिए जो आपको परेशान करती है। आपको केवल यही करना है कि आप प्रभु पर भरोसा रखकर मैंदान में उतर जाएं। शायद आपको जीवन के खेल को खेलने के लिए सब से उपर्युक्त और स्वीकृत रूप से खुद को तैयार करना होगा और प्रभु से प्रार्थना करने की जरूरत है कि वह आपके साथ रहे और आपको जयवंत करे। प्रभु आपको अपने मार्गों को प्रगट करेगा और अपनी इच्छा से आपकी अगुवाई करेगा। एक आशीषित दिन की शुभकामनाएं!
Prayer:
अनुग्रहकारी स्वर्गीय पिता, आप के प्रेम ने मेरे अंदर सारे भय को भगा दिया है। हे परमेश्वर, आप मेरे पिता हैं और आप मेरे कदमों का मार्गदर्शन करें। मैं आपको धन्यवाद करती हूं और आपके प्रेम की हमेशा आभारी रहूंगी। हे प्रभु, आपके सिवाय किसी का प्रेम सिद्ध नहीं है। मेरी मदद करें कि मैं आपके प्रेम को दूसरों के साथ बांट सकूं और इस पृथ्वी पर आपके राज्य को बनाऊं। आज के दिन को आशीष दें और आपका प्रेम मेरे हृदय में से आनन्द की नदी की तरह उमण्डे। यीशु के नाम में, मैं यह प्रार्थना करती हूं, आमीन!

1800 425 7755 / 044-33 999 000