Loading...
Dr. Paul Dhinakaran

यीशु ने आपके लिए दाम चुकाया है

Dr. Paul Dhinakaran
09 Dec
प्रभु यीशु मसीह इस संसार में क्यों आया? क्योंकि परमेश्वर हम से प्रेम करता है इसलिए वह नहीं चाहता कि उसकी संतानें नष्ट हों परन्तु उसके राज्य के वारिस बने। जब मनुष्य ने पाप किया तो मानव जाति उस में गिर गई परन्तु परमेश्वर ने अपने इकलौते पुत्र यीशु मसीह को भेजा कि हम नष्ट न हो। प्रभु यीशु ने हमारे लिए हस्तक्षेप किया और हमारे लिए सलीब पर भयानक मृत्यु ली और अपने जीवन को बलिदान दिया। उसने हमारे सभी पापों,लज्जा और शापों को उठा लिया कि हम अनंत जीवन पाएं।  हम ने अपने उपकारी कार्यों के द्वारा उद्धार नहीं पाया परन्तु परमेश्वर की सरासर कृपादृष्टि के द्वारा। 

चेन्नई में,एक अनुसंधानत्मक संस्था ने जहरीले बुखार के लिए दवाई की खोज की और सबसे पहले उन्होंने उस जहरीले रसायन को एक घोडे में इन्जेक्ट किया। इससे उसके शरीर में बुखार आया परन्तु वैरल इन्फेक्शन रुक गया और घोडे में एक प्रतिरक्षी की स्थापना करेगा ये प्रतिरक्षियां कुछ निरीक्षण के लिए ले जाई गई और उसके अनुसार मरीज का इलाज किया गया। इस दवा ने काम किया और लोग इस बीमारी से ठीक होने लगे। उसी तरह से सर्वशक्तिमान परमेश्वर ने हमारे सारे अपराधों और अधर्मों को यीशु पर रख दिया। प्रभु यीशु हमारी खातिर पाप बन गए। यीशु सलीब पर एक शर्मनाक मृत्यु मरा क्योंकि वह हमें दुष्ट के बंधन से छुडाना चाहता था। यीशु मसीह का लहू हमारे सब पापों से हमें शुद्ध करता है। प्रभु यीशु ने कभी कोई पाप नहीं किया था। यधपि वह परीक्षा में पडा फिर भी पाप में नहीं गिरा। (मत्ती 4-11) प्रभु यीशु ने दाम चुकाया है जिससे कि हम परमेश्वर के सामने धर्मी बने रहें। 
प्रभु यीशु सलीब पर हमारे लिए मरा, उसने आपके शाप,पाप, और आपकी सभी पीडा को खुद पर उठा लिया। कि हम दुष्ट के बंधनों से स्वतंत्र हो सकें। इसलिए जब आप प्रभु यीशु को अपने जीवन में स्वीकार करते हैं तब वह हमारे साथ वास करने की प्रतिज्ञा करता है और हमें कभी नहीं छोडता है। आप प्रभु में मसीह की धार्मिकता हैं। क्योंकि मसीह के बलिदान के कारण आप अपने पापों से स्वतंत्र हैं और आप अपनी बीमारी से चंगे हैं। यदि आप यह सोचते हैं कि प्रभु आपसे प्रेम नहीं करता और आपके पापों के लिए आपकी निंदा करता है। मैं आपको उत्साहित करना चाहता हूं कि आप मसीह के हैं, क्योंकि आपका दाम चुकाया गया है। (1 कुरिन्थियों 6:20) जैसे आप है वह आपसे प्रेम करता है और वह आप को दण्ड नहीं देता है। यद्यपि आप प्रभु से दूर चले गए हैं तौभी प्रभु अपनी बाहें फैलाकर आपके वापस आने की प्रतीक्षा कर रहा है। यदि आप अपने जीवन में कठिन समय से गुजर रहे हैं,परमेश्वर के विरोध में शिकायत या कुडकुडाएं नहीं । वह निश्चय आपकी सभी समस्याओं से आपको छुडाएगा। आपको केवल प्रभु के चरणो में धीरज से बाट जोहनी है। प्रभु पर अपना भरोसा रखें और अपने जीवन पर उसकी प्रतिज्ञाओं पर धावा करें। 
Prayer:
स्वर्गीय प्रेमी पिता,मैं दीनता से आपके सामने आता हूं और मैं अपने सभी अपराधों से मन फिराता/फिराती हूं। अपने को मेरे लिए बलिदान किया उसके लिए मैं आपको धन्यवाद देता/देती हूं। मुझे अपने निर्देशों पर चलने के लिए कृपादृष्टि दें और एक चौकस पूर्ण जीवन व्यतीत करने में अगुवाई करें। आपकी दृष्टि में मेरा जीवन भाता और स्वीकृत हो। 

यीशु के नाम में, मैं प्रार्थना करता/करती हूं। आमीन।   

1800 425 7755 / 044-33 999 000