Loading...
19 Aug
परमेश्वर से बल!
Sis. Stella Dhinakaran

शायद विभिन्न कारणों और परिस्थितियों के कारण आप शरीर, प्राण और आत्मा में निर्बल और शक्तिहीन होंगे परन्तु हमारा प्रभु जीवित है और वह आपकी सभी निर्बलताओं को बदलने और आपको बचाने के लिए तैयार है।

Read More
18 Aug
महिमामय रूप से बने रहना!
Dr. Paul Dhinakaran

यीशु जो सच्ची दाखलता है, उसके साथ बने रहने से हम पौष्टिक और फलवंत होते हैं। दाखलता से अलग होकर डालियां सूख जाती हैं और उन्हें नीचे कुचल डालती हैं।

Read More
17 Aug
प्रतापमय आशीषें!
Dr. Paul Dhinakaran

परमेश्वर ने आपको एक योजना के साथ बनाया है जिससे कि वह आपको आशीष दे। वह निश्चय दिलाता है,मेरी और तुम्हारी गति में, और मेरे और तुम्हारे सोच विचारों में, आकाश और पृथ्वी का अंतर है। आप अपने बोझ को मत उठाएं।

Read More
16 Aug
दीर्घायु जीएं!
Sis. Stella Dhinakaran

प्रियजन,सभी परिस्थितियों में प्रभु का भय मानने के लिए निर्णय कर लें। आप अपने जीवन में वर्षों को बढते हुए देखेंगे और आप उसकी महिमा के लिए प्रफुल्लित होंगे।

Read More
15 Aug
धार्मिकता और धन्यवाद !
Dr. Paul Dhinakaran

आज यीशु ही आपका सहायक और पुन:स्थापक है। वह सब कुछ दुगना कर देगा; वह आपको चंगाई देगा। वह आपके जीवन को बचाएगा और आपको ऊंचा करेगा।

Read More
14 Aug
उत्तम प्रतिफल!
Dr. Paul Dhinakaran

जब आप उसके शरण आएंगे तो आज सर्वशक्तिमान परमेश्वर आपके हाथों के कामों को आशीष देंगे और आप जिसकी अपेक्षा करते हैं उसमें उसका प्रतिफल और सम्मान देंगे। आपकी आशा नहीं टूटेगी।(नीतिवचन 23:18) आप उन्नति को देखेंगे।

Read More
13 Aug
थके हुओं के लिए वचन!
Sis. Stella Dhinakaran

आपके चाहे कैसी भी परिस्थिति हो परमेश्वर आपको शांति और दिलासा देगा और आपके आंसुओं को पोंछ डालेगा। आप चिंता मत करें। वह आपके प्राण को बल देगा और आपको जीवन देगा।

Read More
12 Aug
प्रार्थना का घर !
Dr. Paul Dhinakaran

आप को केवल इतना ही करना है, यीशु को पुकारना है और वह वहां पर उपस्थित होगा और आपको गले लगाएगा और आपको आशीष देगा,और आप चमत्कारों को देखेंगे!

Read More
11 Aug
उसकी उपस्थिति से जवाब!
Dr. Paul Dhinakaran

कई आशाहीन भेष बदलकर खुद को अच्छा प्रगट करते हैं। यह केवल यीशु ही है जो लोगों को ऐसे मृत्यु की कगार से बचाता है।

Read More
10 Aug
फल लगाने के लिए बोए गए हैं!
Dr. Paul Dhinakaran

आप जहां पर हैं वहीं पर उसने आपको लगाए रखा है। वह आपको निश्चय उसी स्थान पर बनाए रखेगा।

Read More