Loading...
Dr. Paul Dhinakaran

आत्मा का सामर्थ!

Dr. Paul Dhinakaran
12 Jul
बाइबल में प्रभु कई बार विपरीत परिस्थितियों में कहते हैं, ‘‘मत डर, क्योंकि मैं तेरे संग हूं।’’ इससे हम यह समझते हैं कि मानवजाति का इतिहास डर जैसे एक भयंकर यंत्र जो शैतान के द्वारा उपयोग किया जाता है कि वे परमेश्वर की योजनाओं में आगे न बढें। जिससे कि आपके जीवन में जड न पकडने की अनुमति न दे, परन्तु आप हमेशा चौकस रहें कि परमेश्वर ने आपको भय की आत्मा नहीं दी है। उसने पहले से ही एक बलवंत आत्मा को रख छोडा है। ऐसा विवेक एक तलवार है जो आपके जय देता है। 

बाइबल में आप दाऊद नामक एक चरित्र के बारे में जानते ही होंगे। वह अपने शत्रुओं से डरे बिना सामना करता है। जब उस ने वीर गोलियात का सामना किया तब क्या हुआ? उसने पांच चिकने पत्थरों को नदी से चुन लिया और उसने उसे अपनी चरवाही की थैली अर्थात झोले में रखे और अपना गोफन हाथ में लिए पलिश्ती के निकट आया। दाऊद ने उससे कहा, ‘‘तू तो तलवार और भाला और सांग लिए हुए मेरे पास आता है; परन्तु मैं सेनाओं के यहोवा के नाम से तेरे पास आता हूं जो इस्राएली सेना का परमेश्वर है, और उसी को तू ने ललकारा है। आज के दिन यहोवा तुझ को मेरे हाथ में कर देगा, और मैं तुझ को मारूंगा, और तेरा सिर तेरे धड से अलग करूंगा; और मैं आज के दिन पलिश्ती सेना के शव आकाश के पक्षियों और पृथ्वी के जीव जन्तुओं को दे दूंगा; तब समस्त पृथ्वी के लोग जान लेंगे कि इस्राएल में एक परमेश्वर है और यह समस्त मण्डली जान लेगी कि यहोवा तलवार या भाले के द्वारा जयवंत नहीं करता, इसलिए कि संग्राम तो यहोवा का है और वही तुम्हें हमारे हाथ में कर देगा। (1 शमूएल 17:45-47) दाऊद के द्वारा कही हुई साहसी बात है जब उसने लडाई से पहले जयवंत होने के लिए कही थी। जैसे ही उसने अंगीकार किया और कहा उसने उस वीर पर एक गोफन और एक पत्थर से जय पाई न कि तलवार से!
दाऊद इस तरह से कैसे कर सका? परमेश्वर की आत्मा उस पर होने के कारण वह ऐसा कर सका। हां, परमेश्वर की आत्मा ने उसे प्रेम, बल और मन की स्पष्टता दी। बाइबाल यह निश्चय कराती है ‘‘क्योंकि परमेश्वर ने हमें भय की नहीं पर सामर्थ और प्रेम और संयम की आत्मा दी है। (2 तीमुथियुस 1:7) परमेश्वर की आत्मा से शत्रु को हराना। दाऊद का छोटा सा पत्थर गोलियात को मारने का एक सामर्थी यंत्र बन गया। इस प्रतिज्ञा पर आप विश्वास के साथ अपनी योग्यताओं के छोटे पत्थर पर बने रहें और देखें कि आपके शत्रु आपके सामने कैसे गिरते हैं। तब आपके अंदर निभर्यता बनी रहेगी!
Prayer:
स्वर्ग में प्रिय पिता, आप ने मुझे प्रेम, सामर्थ और स्वानुशासन की आत्मा दी है। मैं प्रार्थना करता हूं कि मुझे मेरी चुनौतियों का सामना करने के लिए विश्वास के साथ भरें जो आपने मुझे शत्रु पर युद्ध करने का बल दिया है। मैं यीशु के नाम में डर की आत्मा को इन्कार करता हूं। मैं समझ और स्पष्टता के साथ अपने मन के हथियार को लेता हूं जो आपकी ओर से बहता है। यीशु के नाम में मैं अपने शत्रु पर जय पाता हूं। आमीन!

1800 425 7755 / 044-33 999 000